प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -03

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न :-

1. सौर स्पेक्ट्रम में फ्रॉनहॉफर रेखाएं निम्न उदाहरण हैं –

(PET 2001)

(A). रेखिल उत्सर्जन स्पेक्ट्रम
(B). रेखिल अवशोषण स्पेक्ट्रम
(C). बैण्ड उत्सर्जन स्पेक्ट्रम
(d). बैण्ड अवशोषण स्पेक्ट्रम।

उत्तर – (B). रेखिल अवशोषण स्पेक्ट्रम

2. 1,2 और 3 तीन प्रिज्म हैं। प्रत्येक प्रिज्म का अपवर्तक कोण A =60° है। उनके पदार्थ के अपवर्तनांक क्रमशः 1.4 , 1.5 और 1.6 हैं। यदि उनके विचलन कोण क्रमशः δ₁ ,δ₂ और δ₃ हों तो –

(PMT 2001)

(A). δ₃ > δ₂ > δ₁
(B). δ₁ > δ₂ > δ₃
(C). δ₁ = δ₂ = δ₃
(D). δ₂ > δ₁ > δ₃

उत्तर – (A). δ₃ > δ₂ > δ₁

3. सौर स्पेक्ट्रम की प्रकृति होती है –

(PMT 2001)

(A). संतत उत्सर्जन और रेखिल अवशोषण
(B). रेखिल उत्सर्जन
(C). रेखिल अवशोषण
(d). संतत अवशोषण।

उत्तर – (A). संतत उत्सर्जन और रेखिल अवशोषण

4. दृश्य प्रकाश के तरंगदैर्घ्य का परास है –

(PET 2002)

(A). 10A – 100A
(B). 4000A – 8000A
(C). 8000A – 10000A
(d). 10000A – 15000A

उत्तर – (B). 4000A – 8000A

5. प्रिज्म का अपवर्तक कोण 30° है। एक पृष्ठ पर 60° के कोण पर आपतित होने वाली किरण का विचलन कोण 30° होता है। निर्गत कोण होगा –

(PET 2002)

(A). 0°
(B). 30°
(C). 60°
(d). 90°

उत्तर – (A). 0°

विचलन कोण :-

6. एक प्रिज्म का अपवर्तक कोण 60° तथा उसके पदार्थ का अपवर्तनांक √2 है। न्यूनतम विचलन का कोण होगा –

(PET 2003)

(A). लगभग 20°
(B). 30°
(C). 60°
(d). 45°

उत्तर – (B). 30°

7. एक अपवर्तक लेंस युग्म की फोकस दूरी 90 सेमी है। लेंसों के पदार्थों की वर्ण विक्षेपण क्षमताएं क्रमशः 0•024 और 0•036 हैं। अवयवी लेंसों की फोकस दूरियाँ होंगी –

(PMT 2003)

(A). 30 सेमी और 60 सेमी
(B). 45 सेमी और -30 सेमी
(C). 15 सेमी और -45 सेमी
(d). 30 सेमी और -45सेमी।

उत्तर – (D). 30 सेमी और -45सेमी।

8.प्रिज्म का अपवर्तक कोण 60° तथा न्यूनतम विचलन कोण 40° है। तब अपवर्तन कोण का मान होगा –

(PMT 2004)

(A). 30°
(B). 60°
(C). 120°
(d). 100°

उत्तर – (A). 30°

9. बैण्ड स्पेक्ट्रम को यह भी कहा जाता है –

(PET 2005)

(A). आण्विक स्पेक्ट्रम
(B). परमाण्विक स्पेक्ट्रम
(C). फ्लैश स्पेक्ट्रम
(d). रेखिल अवशोषण स्पेक्ट्रम।

उत्तर – (A). आण्विक स्पेक्ट्रम

10. 20 सेमी फोकस दूरी वाले लेंस के पदार्थ की वर्ण विक्षेपण क्षमता 0.08 है। लेंस का अनुदैर्ध्य वर्ण विपथन होगा –

(PET 2005)

(A). 0.08 सेमी
(B). 0.08/20 सेमी
(C). 1.6 सेमी
(d). 0.16 सेमी।

उत्तर – (C). 1.6 सेमी

न्यूनतम विचलन :-

11. एक प्रिज्म का अपवर्तक कोण 60° तथा उसके पदार्थ का अपवर्तनांक √2 है। किरण को किस कोण पर आपतित होना चाहिए , ताकि प्रिज्म से गुजरने पर उसका विचलन न्यूनतम हो –

(PMT 2005 ,08)

(A). 45°
(B). 60°
(C). 90°
(d). 180°

उत्तर – (A). 45°

12. नेत्रिका में क्षेत्र लेंस और नेत्र लेंस की फोकस दूरियाँ क्रमशः 7.5 सेमी और 7.3 सेमी है। गोलीय विपथन को दूर करने के लिए उनके बीच की दूरी होगी –

(PMT 2006)

(A). 0.2 सेमी
(B). 0.4 सेमी
(C). 0.1 सेमी
(d). 0.5 सेमी।

उत्तर – (A). 0.2 सेमी

13. काँच का अपवर्तनांक लाल प्रकाश के लिए 1.520 और नीले प्रकाश के लिए 1.525 है। इस काँच के प्रिज्म से क्रमशः लाल और नीले प्रकाश के लिए न्यूनतम विचलन कोण D और D हैं। तब –

(AIEEE 2006)

(A). D₁ = D सेमी
(B). D₁ ; D₂ से कम या अधिक हो सकता है , यह प्रिज्म के कोण पर निर्भर करेगा।
(C). D₁ > D
(d). D₁ < D

उत्तर – (D). D₁ < D

14. एक पत्ती में केवल हरा पिगमेंट है। उसे 0.6382 माइक्रोमीटर तरंगदैर्घ्य के प्रकाश से प्रदीप्त किया जाता है। पत्ती दिखाई देगी –

(AIIMS 2006)

(A). भूरी
(B). लाल
(C). काली
(d). हरी।

उत्तर – (C). काली

15. प्रिज्म के पदार्थ का अपवर्तनांक √3 तथा प्रिज्म का कोण 30° है। प्रिज्म का न्यूनतम विचलन कोण होगा –

(CBSE PMT 1999)

(A). 30°
(B). 45°
(C). 60°
(d). 75°

उत्तर – (C). 60°

16. इन्द्रधनुष बनता है –

(CBSE PMT 2000)

(A). परावर्तन और विवर्तन द्वारा
(B). अपवर्तन और प्रकीर्णन द्वारा
(C). वर्ण विक्षेपण और पूर्ण आन्तरिक परावर्तन द्वारा
(d). केवल व्यतिकरण द्वारा।

उत्तर – (C). वर्ण विक्षेपण और पूर्ण आन्तरिक परावर्तन द्वारा

आपतन कोण :-

17. प्रिज्म के पदार्थ का अपवर्तनांक √2 तथा इसका अपवर्तक कोण 30° है। प्रिज्म के अपवर्तक पृष्ठों में से किसी एक पृष्ठ को अन्दर की ओर दर्पणनुमा बनाया जाता है। दूसरे पृष्ठ पर आपतित एक वर्णी प्रकाश पुंज दर्पण से परावर्तित होकर अपने ही मार्ग से वापिस लौट आयेगा यदि प्रिज्म पर आपतन कोण है –

(CBSC PMT 2004)

(A). 45°
(B). 60°
(C). 0°
(D). 30°

उत्तर – (A). 45°

18.काँच के एक प्रिज्म को वायु में तत्पश्चात जल में रखा जाता है। यदि aμg = 3/2 तथा aμw = 4/3 हो तो आपतन कोण के न्यून मान के लिए वायु और जल में विचलनों का अनुपात होगा –

(A). 3 : 4
(B). 1 : 2
(C). 2 : 3
(d). 4 : 1

उत्तर – (D). 4 : 1

19.एक समद्विबाहु प्रिज्म के फलक AC पर एक प्रकाश किरण अभिलम्बवत् आपतित होती है। तथा चित्रानुसार बाहर जाती है। प्रिज्म के पदार्थ का न्यूनतम अपवर्तनांक होगा –

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न

(A). √2
(B). 1.5
(C). √3
(D). 2.0

उत्तर – (A). √2

20. एक स्त्रोत तरंगदैर्घ्य 4700A , 5400A एवं 6500A का प्रकाश विकिरित करता है। यह प्रकाश लाल काँच को पार करने के बाद स्पेक्ट्रममापी द्वारा जाँचा जाता है। स्पेक्ट्रम में कौन सा तरंगदैर्घ्य दिखाई पड़ेगा –

(A). 6500 A
(B). 5400 A
(C). 4700 A
(d). उपर्युक्त तीनों।

उत्तर – (A). 6500A

अपवर्तनांक :-

21. 30° कोण के प्रिज्म ABC के फलक AC पर चाँदी की कलई की गयीं है। फलक AC पर एक प्रकाश किरण 45° के कोण पर आपतित होती है। AB पर अपवर्तन के पश्चात AC से परिवर्तित होकर किरण अपने पथ पर वापस लौट जाती है। लेंस के पदार्थ का अपवर्तनांक होगा –

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न

(A). 1.5
(B). 3/√2
(C). √2
(D). 4/3
उत्तर – (C). √2

22. छोटी-छोटी बूँदों से इन्द्रधनुष बनने का कारण है – (PMT 2008)
(A). प्रकाश का प्रकीर्णन
(B). प्रकाश का परावर्तन
(C). प्रकाश का पूर्ण आन्तरिक परावर्तन
(d). इनमें से कोई नहीं।
उत्तर – (C). प्रकाश का पूर्ण आन्तरिक परावर्तन

23. एक लाल रंग के फूल को हरी रोशनी में रखने पर वह कैसा रंग का प्रतीत होगा – (PMT 2009)
(A). लाल
(B). पीला
(C). काला
(D). सफेद।
उत्तर – (C). काला

24. अपवर्तनांक μ₁ = 1.5 वाले काँच से बना 15° कोण का एक पतला प्रिज्म अपवर्तनांक μ₂= 1.75 वाले एक अन्य प्रिज्म से जोड़ा गया है। प्रिज्मों का यह युग्म बिना विचलन के विक्षेपण निर्गत् करता है। दूसरे प्रिज्म का कोण होना चाहिए –
(CBSC PMT 2011)
(A). 7°
(B). 10°
(C). 12°
(d). 5°
उत्तर – (B). 10°

25. एक प्रकाश किरण 60° कोण वाले प्रिज्म पर न्यूनतम विचलन की स्थिति में आपतित होती है। पहले पृष्ठ पर अपवर्तन कोण का मान होगा –
(CBSC PMT 2010)
(A). शून्य
(B). 30°
(C). 45°
(D). 60°

उत्तर – (b). 30° 

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -02 :-

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -01 :-

educationallof
Author: educationallof

FacebookTwitterWhatsAppTelegramPinterestEmailLinkedInShare

3 thoughts on “प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -03

  1. Pingback: here
  2. Excellent article! The content is rich in information. Including more visuals in your future articles could make them even more enjoyable for readers.

Comments are closed.

FacebookTwitterWhatsAppTelegramPinterestEmailLinkedInShare
error: Content is protected !!
Exit mobile version