प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -02

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -02

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -02

1. रेखिल स्पेक्ट्रम प्राप्त होता है –

(PMT 1992)
(A). सूर्य के प्रकाश से
(B). मोमबत्ती की लौ से
(C). बुन्सन लैम्प के प्रकाश से
(D). सोडियम लैम्प के प्रकाश से।

उत्तर – (D). सोडियम लैम्प के प्रकाश से।

2. एक श्वेत तप्त ठोस से उत्सर्जित प्रकाश सोडियम ज्वाला से गुजरता है। बाहर निकले प्रकाश के स्पेक्ट्रम में प्राप्त होगी -(PMT 1992)

(A). D₁ व D₂ पीली रेखाएँ
(B). पीले क्षेत्र में दो काली रेखाएँ
(C). बैंगनी से लेकर लाल तक सभी रंग
(D). कोई भी रंग नहीं।
उत्तर – (B). पीले क्षेत्र में दो काली रेखाएँ।

3. यदि पृथ्वी पर कोई वातावरण न हो तो पृथ्वी से देखने पर आकाश का रंग होगा – (PMT 1992)
(A). काला
(B). नीला
(C). नारंगी
(D). लाल
उत्तर – (A). काला

4. हम फ्लिण्ट काँच के प्रिज्म का बहुरंगी प्रकाश के विक्षेपण के लिए प्रयोग करते हैं , क्योंकि भिन्न भिन्न रंगो का प्रकाश -(PET 1993)
(A). समान गति से चलता है
(B). समान गति से चलता है किन्तु प्रिज्म के आकार के कारण उनका भिन्न भिन्न विचलन होता है
(C). प्रिज्म से गुजरते समय विभिन्न असमदैशिक गुण रखता है
(D). भिन्न भिन्न गति से चलता है।
उत्तर – (D). भिन्न भिन्न गति से चलता है।

5. एक प्रकाश किरण जिसमें कि दो तरंगदैर्घ्य 4000Α तथा 5000A हैं , हवा से क्वार्ट्ज सतह पर गिरती है। आपतन कोण 30° है तथा दोनों तरंगदैर्घ्य के लिए अपवर्तनाको के मान क्रमशः 1.47 और 1.46 हैं। दोनों अपवर्तित किरण पुंजों के मध्य कोण होगा –

(PMT 1993)
(A). 0°
(B). 45°
(C). 90°
(D). 0.14°
उत्तर – (D). 0.14°

प्रिज्म :-

6. एक स्त्रोत से प्रकाश की किरणें काँच के प्रिज्म पर आपतित होती हैं। प्रिज्म का अपवर्तनांक μ तथा प्रिज्म का कोण α है। लगभग अभिलम्ब आपतन की स्थिति में निर्गत् किरण का विचलन कोण होगा –
(PMT 1993)
(A). (μ -2) α
(B). (μ -1) α
(C). (μ +1) α
(D). (μ +2)α
उत्तर – (B). (μ -1) α

7. बैण्ड स्पेक्ट्रम लक्षण है –
(PET 1994)
(A). परमाणुओं का
(B). अणुओं का
(C). अक्रिस्टलीय ठोसों का
(D). क्रिस्टलीय ठोसों का
उत्तर – (B). अणुओं का।

8. 4° प्रिज्म कोण वाले और 1.54 अपवर्तनांक के काँच का बना एक पतला प्रिज्म एक अन्य पतले प्रिज्म के साथ , जिसके काँच का अपवर्तनांक 1.72 हैं , विचलन रहित विक्षेपण उत्पन्न करने के लिए संयोजित किया जाता है। दूसरे प्रिज्म का कोण होगा –
(PET 1995)
(A). 4°
(B). 5.33°
(C). 3°
(D). 2.6°
उत्तर – (C). 3°

9. रेखिल स्पेक्ट्रम में सूचना निहित होती है –
(PET 1995)
(A). प्रिज्म के परमाणुओं के बारे में
(B). स्त्रोत के परमाणुओं के बारे में
(C). स्त्रोत के अणुओं के बारे में
(D). स्त्रोत के परमाणुओं और अणुओं दोनों के बारे में।
उत्तर – (B). स्त्रोत के परमाणुओं के बारे में।

10. संतत स्पेक्ट्रम में अनुपस्थित रेखाएं दर्शाती हैं –
(PET 1995)
(A). प्रेक्षण करनेवाले उपकरण के दोष
(B). प्रकाश स्त्रोत में कुछ तत्वों की अनुपस्थिति
(C). प्रकाश स्त्रोत में कुछ तत्वों की अति गर्म वाष्प की उपस्थिति
(D). प्रकाश स्त्रोत के चारों ओर कुछ तत्वों की ठण्डी वाष्प की उपस्थिति।
उत्तर – (D). प्रकाश स्त्रोत के चारों ओर कुछ तत्वों की ठण्डी वाष्प की उपस्थिति।

आपतन कोण :-

11. 60° कोण वाले प्रिज्म में न्यूनतम विचलन की स्थिति में एक किरण 30° विचलित हो जाता है। प्रिज्म पर आपतन कोण होगा – (PMT 1995)
(A). 30°
(B). 45°
(C). 60°
(D). 90°
उत्तर – (B). 45°

12. एक स्त्रोत तरंगदैर्घ्य 4700A , 5400A एवं 6500A का प्रकाश विकिरित करता है। यह प्रकाश लाल रंग के काँच को पार करने के बाद स्पेक्ट्रम मापी द्वारा जाँचा जाता है। स्पेक्ट्रम में कौन सा तरंगदैर्ध्य दिखाई देगा – (PMT 1995)
(A). 6500A
(B). 5400A
(C). 4700A
(D). उपर्युक्त सभी।
उत्तर – (A). 6500A

13. यदि क्राउन काँच के लिए लाल , पीला एवं बैंगनी रंग के अपवर्तनांक क्रमशः μr , μy एवं μv हो , तो काँच की वर्ण विक्षेपण क्षमता होगी –
(PMT 1996)
(A). μv – μy / μr – 1
(B). μv – μr / μy – 1
(C). μv – μy / μv – μr
(D). ( μv – μr / μy ) – 1
उत्तर – (B). μv – μr / μy – 1

14. फ्रॉनहॉफर रेखाएं निम्नलिखित में से किसका उदाहरण है – (PET 1997)
(A). संतत स्पेक्ट्रम
(B). बैण्ड स्पेक्ट्रम
(C). उत्सर्जन स्पेक्ट्रम
(D). अवशोषण स्पेक्ट्रम।
उत्तर – (D). अवशोषण स्पेक्ट्रम।

15. एक अवर्णक लेंस युग्म में प्रयुक्त लेंसों के काँचों की वर्ण विक्षेपण क्षमताएं 5:3 के अनुपात में हैं। यदि अवतल लेंस की फोकस दूरी 15 सेमी हो , तो दूसरे लेंस की प्रकृति तथा फोकस दूरी होगी –
(PET 1995)
(A). उत्तल , 9 सेमी
(B). अवतल , 9 सेमी
(C). उत्तल , 25 सेमी
(D). अवतल , 25 सेमी।
उत्तर – (A). उत्तल , 9 सेमी

विक्षेपण कोण :-

16. एक प्रिज्म में , जिसका कोण 5° है , श्वेत प्रकाश का निर्गमन किया जाता है। यदि लाल और नीले रंग के लिए अपवर्तनांक क्रमशः 1.64 और 1.66 हो , तो दोनों रंगो के बीच विक्षेपण कोण होगा –
(PET 1997)
(A). 0.1°
(B). 0.2°
(C). 0.3°
(D). 0.4°
उत्तर – (A). 0.1°

17. प्रिज्म द्वारा सबसे कम विचलन होगा –
(PMT 1997) (प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित )
(A). बैंगनी रंग की किरण का
(B). हरे रंग की किरण का
(C). पीले रंग की किरण का
(D). लाल रंग की किरण का।
उत्तर – (D). लाल रंग की किरण का।

18. किस स्त्रोत से संतत उत्सर्जन स्पेक्ट्रम और रेखिल अवशोषण स्पेक्ट्रम एक साथ प्राप्त होता है –
(PMT 1997)
(A). बुन्सन बर्नर की ज्वाला
(B). सूर्य
(C). ट्यूबलाइट
(D). बिजली के बल्ब का तप्त तन्तु।
उत्तर – (B). सूर्य।

19.एक प्रिज्म कआ अपवर्तक कोण A छोटा है। प्रिज्म की विक्षेपण क्षमता के लिए सही कथन है कि –
(PET 1999)
(A). प्रिज्म के पदार्थ पर निर्भर करती है।
(B). प्रिज्म के पदार्थ और कोण दोनों पर निर्भर करती है।
(C). केवल प्रिज्म के कोण पर निर्भर करती है।
(D). श्वेत प्रकाश के सभी रंगो के लिए समान है।
उत्तर – (A). प्रिज्म के पदार्थ पर निर्भर करती है।

20. अपवर्तनांक 1.54 और अपवर्तक कोण 6° प्रिज्म P₁ को अपवर्तनांक 1.72 वाले प्रिज्म के साथ संयोजित किया गया है ,ताकि विचलन विहीन विक्षेपण प्राप्त हो जाये। प्रिज्म P₂ का कोण होगा –
(PMT 1999)(प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित )
(A). 5°24′
(B). 4°30′
(C). 6°
(D). 8°
उत्तर – (B). 4°30′

विचलन कोण :-

21. एक समबाहु प्रिज्म में से प्रकाश की किरण इस प्रकार गुजरती है कि आपतन कोण निर्गत कोण के बराबर होता है तथा निर्गत् कोण प्रिज्म के कोण का तीन-चौथाई होता है। विचलन कोण का मान होगा –
(PMT 1999)
(A). 45°
(B). 39°
(C). 20°
(D). 30°
उत्तर – (D). 30°

22. सौर स्पेक्ट्रम की प्रकृति होती है –
(PET 2000)
(A). अवशोषण रेखाओं के साथ संतत स्पेक्ट्रम
(B). रेखिल स्पेक्ट्रम
(C). हीलियम परमाणु का स्पेक्ट्रम
(D). बैण्ड स्पेक्ट्रम।
उत्तर – (A). अवशोषण रेखाओं के साथ संतत स्पेक्ट्रम

23.दृश्य प्रकाश का तरंगदैर्ध्य निम्न के बीच हैं –
(PMT 2000)
(A). 3000μm से 0.4 μm
(B). 0.4μm से 0.78μm
(C). 0.7μm से 1000μm
(D). 1cm से 30cm
उत्तर -(B). 0.4μm से 0.78μm

24. एक प्रिज्म का अपवर्तक कोण 5° है। लाल और बैंगनी रंग के इसके पदार्थ के अपवर्तनांक क्रमशः 1.5 और 1.6 हैं। प्रिज्म के द्वारा उत्पन्न कोणीय विक्षेपण होगा – (PMT 2000)
(A). 7 .75°
(B). 5°
(C). 0.5°
(D). 0.17°
उत्तर -(C). 0.5°

25. न्यूनतम विचलन की स्थिति में प्रिज्म के लिए निम्न में से कौन सा कथन सत्य नहीं है –
(PET 2001)
(A). i₁ = i₂
(B). r₁ = r₂
(C). i₁ = r₁
(D). उपयुक्त सभी।

उत्तर- ( c),( d)

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -03 :-

प्रिज्म से अपवर्तन सम्बंधित बहुविकल्पीय प्रश्न Part -01 :-

educationallof
Author: educationallof

FacebookTwitterWhatsAppTelegramPinterestEmailLinkedInShare
FacebookTwitterWhatsAppTelegramPinterestEmailLinkedInShare
error: Content is protected !!
Exit mobile version