प्रिज्म से अपवर्तन (आंकिक प्रश्न )

प्रिज्म से अपवर्तन (आंकिक प्रश्न )

1. एक प्रिज्म ( μ = 1.5 ) का कोण 60° हैं। न्यूनतम विचलन का कोण ज्ञात कीजिए। प्रिज्म से अपवर्तन (आंकिक प्रश्न )

हल :- दिया है – μ = 1.5
सूत्र – μ = sin (A+δm)/2 / sin A/2

सूत्र में मान रखने पर ,
1.5 = sin (60º + δm)/2 / sin(60º/2)
⇒1.5 x sin30º = sin (60º + δm)/2
⇒sin (60º + δm)/2 = 1.5 x 1/2
⇒sin (60º + δm)/2 = 0.75
⇒(60º + δm)/2 = sin ⁻¹ ( 0.75 ) = 48.36º
⇒(60º + δm) = 2 x 48.36º = 97.2º
⇒ δm = 97.2º – 60º = 37.2º

2.एक प्रिज्म का अपवर्तक कोण 60° है। उसके द्वारा उत्पन्न नीले , लाल और पीले रंग के न्यूनतम विचलन कोण क्रमशः 53°, 51° और 52° हैं। प्रिज्म के पदार्थ की वर्ण विक्षेपण क्षमता क्या होगी ?

प्रिज्म से अपवर्तन (आंकिक प्रश्न )

हल :- दिया है – A = 60º , δv = 53º , δr = 51º , δy = 52º
सूत्र ω = δv – δr / δy
ω = 53 – 51 / 52 = 2 / 52
ω = 0.038

3. बैंगनी , पीले एवं लाल रंग के लिए किसी प्रिज्म के पदार्थ के अपवर्तनांक क्रमशः 1.62 , 1.59 एवं 1.52 हैं। निम्न की गणना कीजिए –
(1). प्रिज्म के पदार्थ की वर्ण विक्षेपण क्षमता
(2). कोणीय वर्ण विक्षेपण यदि माध्य विचलन 40° हो।
हल :- दिया है – μv = 1.62 , μy = 1.59 ,
μ = 1.52
(1). ω = μv – μr / μy-1
ω = 1.62 – 1.52 / 1.59 – 1
= 0.10 / 0.59
ω = 0.169

(2). दिया है – δy = 40º
सूत्र से – ω = θ / δy
θ = ω x δy = 0.169 x 40º
θ = 6. 76º

अपवर्तनांक –

4. एक प्रिज्म का अपवर्तक कोण 60° है। यदि न्यूनतम विचलन का कोण 38° हो ,तो प्रिज्म के पदार्थ का अपवर्तनांक ज्ञात कीजिए। (sin 49° = 0.7547 ) प्रिज्म से अपवर्तन (आंकिक प्रश्न )

हल :- सूत्र : μ = sin (A+δm)/2 / sin A/2
दिया गया है : A = 60° , δm = 38°

सूत्र में मान रखने पर ,

μ = sin ( 60°+ 38°)/2 / sin 60°/2
= sin 49°/ sin30°
μ = 0.7547 / 0.5000 = 1.5094.

5. प्रिज्म के पदार्थ का अपवर्तनांक 1.65 है। यदि यह प्रकाश किरणों को 7.5° के कोण से विचलित करता है , तो प्रिज्म के कोण की गणना कीजिए।
हल :- δ = (μ – 1)A

दिया गया है : μ = 1.65 , δ = 7.5º

उपयुक्त सूत्र से , A = δ / (μ – 1)
मान रखने पर , A = 7.5º/ 1.65 – 1
A = 7.5 / 0.65 = 11.5º

विचलन कोण –

6. एक प्रिज्म ( μ = 1.5 ) का अपवर्तक कोण 30° है। इसके एक पृष्ठ पर लम्बवत् आपतित एकवर्णी प्रकाश किरण के लिए विचलन कोण ज्ञात कीजिए। (sin 48°36′ = 0.75)

हल:- दिया है : μ = 1.5 , A = 30º , i = 0

(चूंकि प्रकाश किरण लम्बवत् आपतित होती हैं। )

चूंकि आपतन कोण i₁ = 0 ,
अतः अपवर्तक कोण r₁ = 0
अब r₁ + r₂ = A , 0 + r₂ = A
या r₂ = A = 30º
परन्तु μ = sin i / sin r
या sin i₂ = μ . sin r₂ = 1.5 x sin 30º
या sin i₂ = 1.5 x 1/2 = 0.75
sin i₂ = sin 48°36′ , i₂ = 48°36′
परन्तु δ + A = i + i
या δ = i₁ + i₂ – A = 0 + 48°36′ – 30º
δ = 18º36′ .

7. 1.5 अपवर्तनांक वाले काँच के प्रिज्म के लिए न्यूनतम विचलन कोण प्रिज्म के कोण के बराबर है। प्रिज्म का कोण ज्ञात कीजिए। (cos 41°24′ = 0.75)

हल :- मानलो δm = A = θ

सूत्र μ = sin (A+δm)/2 / sin A/2 ,
1.5 = sin (θ + θ)/2 / sin θ/2
= sin θ / sin θ/2
1.5 = (2sin θ / 2cos θ / 2) / sin θ/2
2cos θ/2 = 1.5
cos θ/2 = 0.75 = cos 41°24′
θ/2 = 41°24′
θ = 82º48′

8. एकवर्णी किरण पुँज के लिए एक प्रिज्म का अपवर्तनांक √2 है तथा इसका अपवर्तक कोण 60° है। इस किरण पुँज में न्यूनतम विचलन होने के लिए आपतन कोण क्या होगा ? अपवर्तन कोण का मान भी ज्ञात कीजिए।
हल :- सूत्र μ = sin (A+δm)/2 / sin A/2 ,

तथा न्यूनतम विचलन की स्थिति में ,
i = (A+δm)/2
दिया गया है : μ =√2 , A=60°

सूत्र में मान रखने पर ,
√2 = sin (A+δm)/2 / sin 60°/2 ,
√2 = sin (A+δm)/2 / sin 30°
या sin (A+δm)/2 = √2 sin 30° = √2×1/√2
या (A+δm)/2 = 45°
i = 45°
पुनः r = A/2 =60°/2 = 30°.

9. किसी प्रिज्म की एक सतह पर प्रकाश किरण 10° के कोण पर आपतित होती है तथा दूसरी सतह को स्पर्श करती हुई चली जाती है। यदि प्रिज्म का कोण 40° हो , तो विचलन कोण का मान कितना होगा ?हल :- सूत्र A + δ = i₁ + i

दिया है : A = 40° , i= 10°
प्रकाश किरण दूसरी सतह को स्पर्श करती हुई चली जाती है।
अतः i₂ = 90º
उपर्युक्त सूत्र में मान रखने पर ,
40º + δ = 10º + 90º
δ = 100 – 40
δ = 60º

वर्ण विक्षेपण –

10. किसी प्रिज्म के लिए बैंगनी एवं लाल रंग के प्रकाश के अपवर्तनांक क्रमशः 1.659 तथा 1.641 हैं। यदि प्रिज्म का कोण 10° हो , तो सम्पूर्ण वर्ण-विक्षेपण ज्ञात कीजिए।
हल :- सम्पूर्ण वर्ण-विक्षेपण = (μv – μr)A
दिया है : μv = 1.659 , μr = 1.641 , A = 10º

सूत्र में मान रखने पर ,

सम्पूर्ण वर्ण-विक्षेपण = (1.659 – 1.641) x 10
= 0.018 x 10
सम्पूर्ण वर्ण-विक्षेपण = 0.18º

11. बैंगनी और लाल रंग के प्रकाश के लिए फ्लिण्ट काँच के अपवर्तनांक क्रमशः 1.659 और 1.641 हैं। फ्लिण्ट काँच की वर्ण-विक्षेपण क्षमता ज्ञात कीजिए।
हल :- सूत्र : ω = μv – μr / μy – 1
दिया है : μv = 1.659 , μr = 1.641
μy = 1.659 + 1.641 / 2 = 3.300 / 2 = 1.65

सूत्र में मान रखने पर ,

ω = 1.659 – 1.641 / 1.65 – 1
ω = 0.018 / 0.65 = 0.028

12. यदि लाल , पीले और बैंगनी रंग के लिए फ्लिण्ट काँच के अपवर्तनांक क्रमशः 1.6434 , 1.6499 और 1.6852 हों , तो फ्लिण्ट-काँच की वर्ण विक्षेपण क्षमता ज्ञात कीजिए।
हल :- सूत्र : ω = μv – μr / μy – 1
दिया है : μv = 1.6852 , μy = 1.6499
μr = 1.6434

सूत्र में मान रखने पर ,

ω = 1.6852 – 1.6434 / 1.6499 – 1
= 0.0418 / 0.6499
ω = 0.064

13. क्रॉउन काँच के प्रिज्म के लिए μv = 1.523 तथा μr = 1.515 है एवं फ्लिण्ट काँच के प्रिज्म के लिए μv‘ = 1.688 तथा μr‘ = 1.650 है। यदि क्रॉउन काँच के प्रिज्म का योग 5° हो , तो फ्लिण्ट काँच के प्रिज्म का कोण ज्ञात कीजिए ताकि विचलन रहित वर्ण-विक्षेपण प्राप्त हो।
हल :- सूत्र : A/A’ = -( μy – 1 / μy – 1)
दिया है : μy = μv + μr / 2
μy = 1.523 + 1.515 / 2 = 1.519
μy’ = μv’ + μr’ / 2

= 1.688 + 1.650 / 2
μy = 1.659
तथा A = 5º

सूत्र में मान रखने पर ,

5/A’ = – ( 1.659 – 1 / 1.519 – 1 )
5/A’ = – 0.659/ 0.519
A’ = – 5 x 0.519 / 0.659
A’ = – 3.94º

Read more…

प्रिज्म के अपवर्तनांक का सूत्र :-

कोणीय वर्ण विक्षेपण (Angular Dispersion) :-

वर्ण विक्षेपण क्षमता :-

स्पेक्ट्रम (Spectrum) किसे कहते हैं ?

अशुद्ध एवं शुद्ध स्पेक्ट्रम किसे कहते हैं ?

वर्ण विक्षेपण रहित विचलन –

समक्ष दृष्टि स्पेक्ट्रोस्कोप –

स्पेक्ट्रम के प्रकार –

सौर स्पेक्ट्रम और फ्रॉनहॉफर रेखाएँ – –

educationallof
Author: educationallof

6 thoughts on “प्रिज्म से अपवर्तन (आंकिक प्रश्न )

  1. Definitely believe that which you stated. Your favorite justification seemed to be on the web the simplest thing to be aware of. I say to you, I definitely get annoyed while people consider worries that they just don’t know about. You managed to hit the nail upon the top as well as defined out the whole thing without having side effect , people could take a signal. Will likely be back to get more. Thanks

  2. Excellent article! The insights provided are valuable, and I think adding more images in your future articles could make them even more compelling. Have you considered that?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!